Home > Uncategorized > केवल 2 मंत्रो के जप से होगी बुद्धि और धन में वृद्धि

केवल 2 मंत्रो के जप से होगी बुद्धि और धन में वृद्धि

श्री गणेशजी के इन मंत्रों का रोज जप करने से पूर्ण होंगी आपकी सारी मनोकामनाएं और किसी प्रकार के विध्न का भय नहीं रहेगा, इन मंत्रो का स्मरण सब सिद्धियां देने वाला होता है और ये मंत्र करेगे आपके धन व बुद्धि में वृद्धि ।

हिंदू धर्म के अंतर्गत श्री गणेश जी को दयालु , शांत ,सरल , रिद्धि सिद्धि दाता और अपने उपासकों पर शीघ्र प्रसन्न होने वाला देवता माना गया है । हिन्दू धर्म में किसी भी शुभ कार्य , पूजापाठ में सर्व प्रथम श्री गणेश जी का पूजन किया जाता है ।
भगवान श्री गणेश का स्वरूप काफी भव्य है। वे एकदन्त, चतुर्भुज, रक्त चन्दन धारण किए हुए और पीतवस्त्रधारी हैं। गौरा-महेश पुत्र गणेश अपने उपासकों पर शीघ्र प्रसन्न होते हैं और उनकी सभी मनोकामनाओ को शीध्र पूरी करते हैं।

धन प्राप्ति के लिए संकटनाशन गणेश स्तोत्र मंत्र

‘संकटनाशन गणेश स्तोत्र’ के 11 पाठ करें। प्रस्तुत है श्री गणेश का लोकप्रिय संकटनाशन स्तोत्र:

संकटनाशनगणेशस्तोत्रम् ॐ गं गणपत्ये नमः

श्री संकटनाशनगणेशस्तोत्रम्प्रणम्य शिरसा देवं गौरीपुत्रं विनायकम्। भक्तावासं स्मरेन्नित्यं आयुःकामार्थसिद्धये

प्रथमं वक्रतुण्डं च एकदन्तं द्वितीयकम्। तृतीयं कृष्णपिङ्गाक्षं गजवक्त्रं चतुर्थकम्

लम्बोदरं पञ्चमं च षष्ठं विकटमेव च । सप्तमं विघ्नराजेन्द्रं धूम्रवर्णं तथाष्टमम्

नवमं भालचन्द्रं च दशमं तु विनायकम्। एकादशं गणपतिं द्वादशं तु गजाननम्

द्वादशैतानि नामानि त्रिसंध्यं यः पठेन्नरः । न च विघ्नभयं तस्य सर्वसिद्धिकरः प्रभुः

इन बारह नामों का जो मनुष्य (प्रातः, मध्यान्ह और सांयकाल) में पाठ करता है उसे किसी प्रकार के विध्न का भय नहीं रहता, इस प्रकार का स्मरण सब सिद्धियां देने वाला है व धन धान्य में भरपूर रखता है ।

विद्या प्राप्ति के लिए मंत्र

विद्यार्थी लभते विद्यां धनार्थी लभते धनम्। पुत्रार्थी लभते पुत्रान्मोक्षार्थी लभते गतिम्

नोटः बतलाये गए मंत्रों का सच्चे मन से जप करने पर ही लाभ मिलता है।

मंत्र जप से पहले किसी ज्योतिषी की सलाह जरूर ले ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *