Home > धर्म > दूध के कुछ सरल उपाय(टोटके)

दूध के कुछ सरल उपाय(टोटके)

ज्योतिष के अनुसार दूध के कुछ सरल उपाय (टोटके)

 

दूध तकरीबन हर घर में इस्तेमाल होता है. यह स्वास्थ्य के लिहाज से जरूरी है। बच्चों के लिए यह पहला आहार होता है, लेकिन स्वास्थ के अलावा दूध के अन्य उपयोग भी हैं।

हिन्दू धर्म में दूध को काफी उपयोगी माना गया है। हिन्दू शास्त्रों की शाखा ज्योतिष शास्त्र में दूध के कई इस्तेमाल बताए गए हैं जिन्हें करने से जीवन आसान बन सकता है और आप परेशानियो से छुटकारा पा सकते है ।           

ज्योतिष में दूध का बड़ा महत्व बताया गया है। राहू को नियंत्रित रखने का सबसे अच्छा साधन दूध बताया गया है। आप सांप को दूध पिलाएंगे तो राहू की दशा से बाहर रहेंगे।
वहीं आपके साथ लगातार दुर्घटनाएं हो रही हैं तो भी यही उपाय बहुत कारगर होगा। यहां हम आपको ज्योतिष के लिहाज से दूध के ऐसे ही उपायों के बारे में बताएंगे।

– ज्योतिषशास्त्र में कहा गया है कि यदि आपके या किसी परिजन के साथ बार-बार एक्सिडेंट हो रहे हैं तो मंगलवार को करीब 400 ग्राम दूध, जिसमें शक्कर और चावल मिले हों, नदी या झरने में बहाना चाहिए। लगातार सात मंगलवार तक इस उपाय को करने से दुर्घटनाएं बंद हो जाएंगी और शांति आ जाएगी।

– यदि आर्थिक मोर्चे पर परेशान हो रहे हैं तो हर रात एक ग्लास दूध सिरहाने रखकर सो जाये ।  ध्यान रखें, यह दूध ढुलना नहीं चाहिए।और दूसरे दिन सुबह उठकर उसे बबूल के पेड़ पर चढ़ा दें। कहते हैं कि ऐसा करने से लक्ष्मीजी प्रसन्न होती हैं और आर्थिक रूप से आप मजबूत बनते हो ।

– कुंडली में किसी भी तरह का दोष है तो लगातार सात सोमवार को शिव मंदिर जाएं और शिवलिंग पर कच्चा दूध चढ़ाएं। इससे ग्रह दशा बदल जाएगी।

– हिंदू धर्म ग्रंथों में बताया गया है कि पीपल के पड़े में सभी देवताओं का निवास होता है। इसलिए दूध में घी और शक्कर मिलाएं और पीपल की जड़ों में चढ़ाएं। ऐसा करने से भी मां लक्ष्मी प्रसन्न होंगी और घर में धन-वैभव आएगा।

– यदि आपकी कुंडली का स्वामी अशुभ ग्रह है तो दूध में शक्कर, केसर या हल्दी मिलाएं और ऊँ नम: शिवाय का उच्चारण करते हुए हर शाम को शिवजी पर चढ़ाएं। इससे स्वामी ग्रह की नकारात्मकता कम होगी और मंगल होना शुरू हो जायेगा ।

– यदि जीवन में सबकुछ ठीक नहीं चल रहा है और किए जा रहे कार्यों को वांछित फल नहीं मिल रहा है तो घर या किसी जल स्रोत के पास कच्चा दूध रखें।

– ज्योतिष में दूध को चन्द्रमा का कारक ग्रह माना गया है। इसमें चीनी मिला कर मंगल तथा केसर या हल्दी मिला कर गुरु का उपाय किया जाता है। इसी दूध को यदि सांप को पिलाया जाए तो राहू का उपाय होता है। दूध में तिल मिलाकर भगवान शिव पर चढ़ाने से समस्त ग्रहों का अनिष्ट टलता है।

– सोमवार के दिन सुबह जल्दी उठें। उसके बाद नित्य कर्मों से निवृत्त होकर स्नान आदि कर अपने आसपास के शिव मंदिर में जाएं तथा वहां शिवलिंग पर कच्चा दूध चढ़ाएं। लगातार सात सोमवार तक इस उपाय को करने से सभी मनोकामनाएं पूरी होती हैं। साथ ही कुंडली में कोई भी ग्रह बुरा असर दे रहा होता है, वो भी टल जाता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *