मुख्यमंत्री अन्नपूर्णा योजना म.प्र.

मुख्यमंत्री अन्नपूर्णा योजना म.प्र.

  08 May 2018

मुख्यमंत्री अन्न्पूर्णा योजना (म.प्र.)

म.प्र. में मुख्यमंत्री अन्नपूर्णा योजना की शुरुवात मार्च 2014 में मुख्यमंत्री शिवराजसिंह द्वारा की गई थी । तब से अब तक लगभग 5 करोड़ 43 लाख लोगो को इस योजना में शामिल किया जा चूका है । इस योजना के तहत प्रत्येक पात्र व्यक्तियो को 1रु. की दर से प्रति किलोग्राम गेहूँ और चावल वितरित किया जा रहा है । प्रदेश में इस योजना का अधिक से अधिक लाभ पात्र व्यक्तियो तक पहुचने के लिए व्यापक प्रचार और प्रसार किया जा रहा है । इस योजना चालू करने का सरकार का मुख्य  उद्देश्य है की कोई भी व्यक्ति भूखा न रहे ।

अन्त्योदय (एपीएल) अन्न योजना इस श्रेणी के अंतर्गत ऐसे व्यक्ति जिनकी आय का कोई निश्चित साधन नहीं है जैसे बुजुर्ग, अनाथ ,अपाहिज, विधवा, बेसहारा आदि लोगो को सम्मलित किया गया है । अन्त्योदय योजना के अंतर्गत प्रत्येक पात्र परिवार को प्रति महीने 35किलोग्राम वितरण किया जाता है 

प्राथमिक श्रेणी के परिवार(बीपीएल):- इस श्रेणी के अंतर्गत केश शिल्पी , रिक्शा चालक,घरेलू कामकाजी महिलाऐ, मछुआरे ,फेरीवाले  तथा सहकारी समिति के सदस्य एवं अनुसूचित जाति व अनुसूचित जन जातियो को शामिल किया गया है । इस श्रेणी के पात्र परिवारो को प्रति व्यक्ति 5 किलो अनाज प्रति माह प्रदान किया जायेगा।

योजना का लाभ लेने जरुरी दस्तावेज :-

  • आधार कार्ड
  • राशन कार्ड
  • मूल निवास प्रमाण पत्र (म.प्र. का निवासी होना जरुरी है)

इस योजना कि कुछ महत्वपूर्ण बाते :-

  • म.प्र. में अन्नपूर्णा योजना 2008 से लागूँ है । किन्तु जिस मे पहले गरीबी रेखा (बीपीएल)श्रेणी के अंतर्गत आने वाले 75 लाख परिवार ही लाभ उठा रहे थे । जिन्हे 3 रु किलो गेंहू व 4.50रु किलो चावल प्रति व्यक्ति प्रति माह की दर से वितरित किया जाता था ।
  • इस योजना के अंतर्गत मार्च 2013 में बीपीएल परिवार के साथ साथ अंतोदय परिवारो(अत्यंत गरीब परिवार) को भी शामिल किया गया । तथा सभी पात्र परिवारो को चावल 2 रु व गेंहू 1 रु प्रति किलो के हिसाब से देने का प्राबधान किया गया एवं पात्र अंतोदय परिवारो(अत्यंत गरीब परिवार) को 1 रु प्रति किलो के हिसाब से आयोडीन नमक प्रदान किया जाने लगा ।
  • इस योजना के अंतर्गत जनवरी 2014 से सभी पात्र बीपीएल व एपिएल परिवारो को 1रु किलो चावल व गेंहू वितरित करना प्रारंभ किया गया ।
  • अब इस योजना के अंतर्गत मार्च 2014 से 1 रूपए प्रति किलोग्राम की दर से चावल, गेहूं , 1 रूपए प्रति किलोग्राम की दर से  4 लीटर कैरोसिन तेल, 1 किलोग्रम शक्कर तथा आयोडीन युक्त नमक भी 1 रूपए प्रति किलोग्राम की दर से प्रदान किया जाता है।

 इस योजना के सम्बन्ध और अधिक जानकारी के लिए लॉगऑन करे,           http//www.mpsc.mp.gov.in/

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *