Home > admin (Page 2)

जीवन में पड़ने वाले ग्रह दोष की शांति के कुछ सरल उपाये

जीवन में पड़ने वाले ग्रह दोष की शांति के कुछ सरल उपाये   जोतिष के अनुसार हमारी जन्म कुंडली के ग्रह शुभ और अशुभ दोनों प्रकार से हमारे जीवन को प्रभावित करते है। अगर कुंडली में किसी भी प्रकार का ग्रह दोष है तो जोतिषी या जानकर हमें ग्रहों से संबंधित दान

Read More

रोग निवारक भी है मट्ठा (छाछ)

रोग निवारक भी है मट्ठा (छाछ ) दही मथ कर उसमें से मक्खन निकालने के बाद जो दूध जैसा पतला पदार्थ शेष रहता है उसे हम मट्ठा या छाछ कहते हैं । मट्ठा गरम, हल्का, खट्टा, पाचक, शक्तिवर्धक तथा क्षुधावर्धक होता है । यह कफ और बादी नष्ट करने वाला, शोध,

Read More

आखिर श्री गणेश जी को तुलसीजी क्यों नहीं चढ़ाई जाती ।

तुलसी जी को बेसिल पौधे के नाम से भी जाना जाता है । हिंदू धर्म के अंतर्गत तुलसी जी को बहुत ही पावन पौधा माना गया है । भगवान विष्णु की पूजा तुलसी जी के बिना अधूरी मानी जाती है । तुलसी जी के पौधे में कई प्रकार के औषधिय

Read More

भोजन करते समय इन नियमो का पालन करने से मिलते है बिशेष लाभ

भोजन सम्बन्धी कुछ नियम   १ - पांच अंगो ( दो हाथ , २ पैर , मुख ) को अच्छी तरह से धो कर ही भोजन करे ! २. गीले पैरों खाने से आयु में वृद्धि होती है ! ३. प्रातः और सायं ही भोजन का विधान है ! ४. पूर्व और उत्तर दिशा की

Read More
sudama badh

भगवान शिव ने क्यों किया था सूदामा का वध

गोकुलवासी श्री कृष्ण के मित्र ‘सुदामा’ अपनी मित्रता की वजह से शास्त्रों में जाने जाते हैं. शांत व सरल स्वभाव, कृष्ण के हृदय में अपनी एक अलग ही छवि बनाने वाले सुदामा को दुनिया मित्रता के प्रतिरूप के रूप में याद करती है, लेकिन इनका एक रूप ऐसा भी था

Read More

घर के कृष्ण मंदिर में ध्यान रखनी चाहिए यह 6 बातें और 20 नियम

श्री कृष्ण को प्रेम स्वरूप माना जाता है। ग्रंथों में कहा गया है कि श्री कृष्ण का व्यक्तित्व बहुत ही सम्मोहक है। वे पीला पीतांबर धारण करते हैं और उनके मुकुट पर मोर पंख है। श्री कृष्ण को छ: चीजों से बहुत प्रेम है, पहली बांसुरी जो हमेशा उनके होंठों से लगी रहती

Read More

जानें क्या है निपाह वायरस, कौन से हैं इसके लक्षण और कैसे करें बचाव?

क्या है निपाह वायरस? विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) के मुताबिक निपाह एक ऐसा वायरस है जो चमगादड़ों से इंसानों में फैलता है। यह जानवरों और इंसानों दोनों में गंभीर बीमारियों की वजह बन सकता है। इस वायरस का मुख्य स्रोत फल खाने वाले चमगादड़ ( फ्रूट बैट ) हैं। इन्हें फ्लाइंग

Read More

म.प्र. कौशल्या योजना

  म.प्र. मुख्यमंत्री कौशल्या योजना म.प्र. सरकार ने महिलाओ को आत्मनिर्भर ,सशक्त व हुनरमंद बनाने के लिए कौशल्या योजना की शुरुवात करी है । सरकार इस योजना के द्वारा अधिक से अधिक महिलाओ को आत्मनिर्भर बनाना चाहती है जिस से वह खुद अपने पेरो पर खड़ी होकर अपना जीवन यापन चलाये । सरकार

Read More

म.प्र. लाड़ली लक्ष्मी योजना

  लाड़ली लक्ष्मी योजना आज हमारे देश में लडकियों का लिंगअनुपात लड़को की अपेक्षा गिरता जा रहा है । कन्या भूर्ण हत्या के कई मामले सामने देखे जा रहे है । कन्या जन्म को लेकर लोगो में नकारात्मक सोच बढ़ रही है । ये ही सब बातो को ध्यान में रखते हुये

Read More

मुख्यमंत्री अन्नपूर्णा योजना म.प्र.

मुख्यमंत्री अन्न्पूर्णा योजना (म.प्र.) म.प्र. में मुख्यमंत्री अन्नपूर्णा योजना की शुरुवात मार्च 2014 में मुख्यमंत्री शिवराजसिंह द्वारा की गई थी । तब से अब तक लगभग 5 करोड़ 43 लाख लोगो को इस योजना में शामिल किया जा चूका है । इस योजना के तहत प्रत्येक पात्र व्यक्तियो को 1रु. की

Read More